Mon. May 27th, 2024

Kohinoor Diamond of hirtory कोहिनूर हीरे का इतिहास

कोहिनूर हीरा का मूल इतिहास बहुत पुराना है, और इसका मूल जगह भारत है। इस हीरे को अलग-अलग राजाओं और शासकों के हाथों से गुजरा है। इसकी पूरी इतिहासिक यात्रा निम्नलिखित रूप में है

 

Kohinoor Diamond
Kohinoor Diamond

महाराजा राजा राजा दुल्हारम

कोहिनूर का पहला उल्लेख महाराजा राजा राजा दुल्हारम (और महाराजा राजा राजा अन्य मित्रों) के दरबार में है, जो गुजरात के सल्तनत के शासक थे। यह इस दौरान एक महत्वपूर्ण प्राचीन हीरा बन गया था

Kohinoor Diamond: कहां से आया कोहिनूर हीरा

मुगल साम्राज्य

17वीं शताब्दी में, कोहिनूर हीरा मुगल साम्राज्य के इम्पीरियल आभूषण के रूप में विख्यात हुआ। इसे मुगल सम्राट शाहजहाँ के दरबार में प्रदर्शित किया गया था

अंग्रेजी और ब्रिटिश शासन

19वीं शताब्दी में, कोहिनूर हीरा ब्रिटिश शासकीय संस्कृति का एक हिस्सा बन गया। इसे ब्रिटिश राजा-महारानी के आभूषण के रूप में प्रदर्शित किया गया और यह वर्तमान राजमहल के अंग बन गया

संविदा और आधुनिक समय

कोहिनूर हीरा अब अंग्रेजी मूट के हिस्से के रूप में लंदन के टावर ऑफ लंदन में रखा गया है, जो एक पर्यटन स्थल के रूप में विख्यात है।

कोहिनूर हीरे का इतिहास उसकी विविध रूपरेखाओं के साथ जुड़ा है, जो भारतीय और विश्व इतिहास के महत्वपूर्ण हिस्से हैं। यह हीरा व्यापार, संस्कृति, और राजनीति के कई पहलुओं का प्रतीक बना है

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *