Sun. May 26th, 2024

केजरीवाल की सेहत पर सियासी संग्राम

केजरीवाल की सेहत पर सियासी संग्राम
Political battle on Kejriwal’s health
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली के राउस एवेन्यू कोर्ट में इस पर भी सुनवाई है और केजरीवाल की आस्था पर राउस एवेन्यू कोर्ट का फैसला आने में थोड़ा ही वक्त लगेगा। अब से कुछ देर के बाद फैसला संभव है। कोर्ट को बताया गया है कि अभी अग्रवाल की ओर से हार्दिक लिखित जवाब दाखिल किया जाना है तो केजरीवाल का जवाब बिहार प्रशासन ने कोर्ट को केजरीवाल की सेहत को लेकर गुमराह किया है। आरोप प्रत्यारोप यह सब कुछ चल रहा है। बार-बार प्रेस कांफ्रेंस करके आम आदमी पार्टी को मुद्दा बना रही है।
शराब घोटाला मामला है। अंदर दिल
केजरीवाल की सेहत पर सियासी संग्राम
केजरीवाल की सेहत पर सियासी संग्राम

के अंदर है। डॉक्टर दिल्लीमें तो क्या देश में तो क्या दुनिया में आपको कोई ऐसा डॉक्टर नहीं मिलेगा जो आपको कह देगा कि 300 के ऊपर का इंसुलिन के इंजेक्शन से कंट्रोल को गुमराह करने की साजिश की जाती है। एम्स के डॉक्टर का हवाला दिया जाता है लेकिन कोई कंसल्टेशन नहीं हुई। कोई डायबिटीज डायट चार्ट नहीं आया। कोई डायबिटीज नहीं आया और भारतीय जनता पार्टी के अरविंद केजरीवाल तिहाड़ प्रशासन ने और ईडी ने कोर्ट में जमा किए हैं। दिखा रहे हैं। के भारतीय जनता पार्टी की आईडी और भारतीय जनता पार्टी का तिहाड़ प्रशासन कोर्ट को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है। देश को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है और अरविंद केजरीवाल जी।डॉक्टर से बात ना कर सके।

अरविंद केजरीवाल जी को इंसुलिन ना मिल सके। इसके लिए पूरा षड्यंत्र रच में सब कुछ एक्टिव 3:00 बजे बयान है। उस पर नजर डाली मुख्यमंत्री को भारी नुकसान पहुंचेगा। इस तरह की बयानबाजी हो रही है। आपकी सेहत ठीक है। डॉक्टर ने केजरीवाल से कहा, चिंता की कोई बात नहीं। डॉक्टर कह रहे चिंता की कोई बात नहीं। जो दवाई ठीक है। लेते रही है कि हम खा रहे हैं। यह आरोप लगाया था जो मेन मुद्दा है। वह भटक चुका है। आम कितने यह सब कुछ चल रहा है। मिठाई हाई ब्लड प्रेशर शुगर यह सब कुछ इंसुलिन यह सब मुद्दा चुका है, लेकिन क्या चुनाव पर भी पड़ेगा?

अब इस मुद्दे पर अरविंद केजरीवाल की पत्नी जो आपको और जानकारी दे रहे हैं, लेकिन थोड़ा देते हैं। जेल में पूरी खा रहे हैं। यहां से शुरुआत हुई थी जब ब्रेकिंग न्यूज़ आई थी की तरफ से जब वह हवाला दिया गया था। सबसे पहले यही स्टेटमेंट था कि जेल में खिंचवा शुगर के पेशेंट होने के बावजूद भी पूरी खा रहे हैं। आम खा रहे मिठाई खा रहे हैं। आप केजरीवाल करें कि एक बार ही भाई साहब हमने प्रसाद की तरफ खाई थी और इस पर अपडेट पहुंचाने के बाद से क्या सियासत हो रही है। यह मामला इतना तूल पकड़ेगा और आगे और कोर्ट का फैसला आना है। इसको समझने की कोशिश करते हैं, सृष्टि हो जाए। हमारे साथ हमारे साथ चुकी है। सृष्टि जानकारी हुई थी जो जेल के हवाले से जोर शोर से जानकारी दी थी कि 40 मिनट तक कंसल्टेंसी हुई थी। एम्स के डॉक्टर के साथ अरविंद केजरीवाल की ना ही केजरीवाल ने उस में इंसुलिन की चर्चा की थी नहीं। डॉक्टर ने कहा तो इंसुलिन अगर जरूरत होती तो अरविंद श्रीवास डॉक्टर से बुला लेते। स्क्रीन का चर्चा नहीं हुआ तो आम आदमी पार्टी प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्यों दबा कर रही है कि उनको दरकार है?

#arvindkajrwal

 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *