अगर आपके घर में AC है तो हो जाएगा सावधान ज्यादा AC चलने पर लग सकती है आग

AC

गर्मी इतनी पड़ रही है कि हर समय ठंडी हवा में बैठे रहने का मन करता है। जिन लोगों के घरों में पंखा है, वे तो उसी से काम चला रहे हैं, लेकिन जिनके घर में कूलर है, वे भी गर्मी से परेशान हैं। कूलर छोड़िए, तापमान इतना बढ़ता जा रहा है कि एसी भी जवाब दे रहा है। भारत के ज्यादातर हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है, और ऐसे में बहुत से लोग यह शिकायत कर रहे हैं कि उनके एसी ठीक से काम नहीं कर रहे हैं।

ac

कई लोग इस बात से परेशान हैं कि उनका एयर कंडिशनर बार-बार ट्रिप कर रहा है और कंप्रेसर चालू नहीं हो रहा है। चाहे वह स्प्लिट एसी हो या विंडो एसी, जब तक कंप्रेसर ऑन नहीं होगा, ठंडी हवा नहीं आएगी।

 

दिल्ली के एक स्थानीय एसी टेक्नीशियन सलीम से बात करने पर पता चला कि यह समस्या तेज गर्मी के कारण हो रही है। तापमान के 45 डिग्री पार होने के बाद एसी को ठंडक देने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है, और यह तेजी से गर्म हो जाता है। इसकी वजह से यह बार-बार ट्रिप हो जाता है, और कंप्रेसर चालू नहीं हो पाता है।

 

समस्या के संभावित समाधान:

 

1. वेंटिलेशन में सुधार: एसी यूनिट के आसपास उचित वेंटिलेशन सुनिश्चित करें ताकि गर्मी आसानी से बाहर निकल सके।

2. रूटीन सर्विसिंग: एसी की नियमित सर्विसिंग कराएं ताकि इसकी कूलिंग एफिशिएंसी बढ़ सके और यह ओवरहीट न हो।

3. सही तापमान सेटिंग: एसी को बहुत कम तापमान पर सेट न करें। 24-26 डिग्री सेल्सियस का तापमान आरामदायक और ऊर्जा-संवर्धक होता है।

4. सनशेड्स और पर्दे: कमरे में सीधे सूर्य की किरणें न आने दें। सनशेड्स और पर्दों का उपयोग करें ताकि कमरा कम गर्म हो और एसी को कम मेहनत करनी पड़े।

इन उपायों को अपनाकर आप अपने एसी की कार्यक्षमता को बढ़ा सकते हैं और भीषण गर्मी में भी ठंडक का आनंद ले सकते हैं।

आपके घर का AC बम की तरह फटेगा

 लगातार चलाया तो लगेगी आग!

इतनी गर्मी में एसी के बिना रहना मुश्किल है, लेकिन टेक्नीशियन का कहना है कि AC को लगातार चलाने से बचना चाहिए। एसी चलाने के दौरान इसे बीच-बीच में 7 से 9 मिनट के लिए बंद करते रहना चाहिए। ऐसा न करने पर आग लगने का खतरा भी हो सकता है।

 

गर्मी में कंप्रेसर तेजी से गर्म होता है, और अगर इसे बिना बंद किए लंबे समय तक चलाया जाए, तो ओवरहीट होकर इसमें आग लगने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए, सुरक्षा और एसी की लंबी उम्र के लिए इसे थोड़ी-थोड़ी देर में बंद करना जरूरी है।

 

AC के उपयोग में सावधानियां:

1. समय-समय पर ब्रेक दें:
एसी को लगातार न चलाएं। हर कुछ घंटों बाद इसे 7 से 9 मिनट के लिए बंद करें ताकि कंप्रेसर को ठंडा होने का समय मिल सके।

 

2. वेंटिलेशन:
एसी यूनिट के आसपास उचित वेंटिलेशन सुनिश्चित करें ताकि गर्मी आसानी से बाहर निकल सके और AC ओवरहीट न हो।

 

3. रूटीन सर्विसिंग:
एसी की नियमित सर्विसिंग कराएं ताकि यह सही ढंग से काम करे और ओवरहीटिंग से बचा जा सके।

 

4. सही तापमान सेटिंग:
एसी को बहुत कम तापमान पर सेट न करें। 24-26 डिग्री सेल्सियस का तापमान आरामदायक और ऊर्जा-संवर्धक होता है।

 

5. सुरक्षा उपकरण:
AC के पास धुएं या आग का पता लगाने वाले उपकरण लगाएं ताकि किसी भी आपात स्थिति में तुरंत कार्रवाई की जा सके।

 

इन सावधानियों को अपनाकर आप एसी का सुरक्षित और प्रभावी उपयोग कर सकते हैं और भीषण गर्मी में भी ठंडक का आनंद ले सकते हैं।

 

 स्प्लिट एसी के आउटडोर यूनिट पर शेड लगाने के फायदे

अगर आपके पास स्प्लिट एसी है और उसके आउटडोर यूनिट पर डायरेक्ट धूप पड़ती है तो इसके वजह से भी कंप्रेसर ठंडा नहीं कर पाता है। ऐसे में आप निम्नलिखित उपाय अपनाकर एसी की कार्यक्षमता बढ़ा सकते हैं:

 

आउटडोर यूनिट पर शेड लगाएं:

स्प्लिट AC के आउटडोर यूनिट पर डायरेक्ट धूप पड़ने से कंप्रेसर गर्म हो जाता है, जिससे उसकी कार्यक्षमता कम हो जाती है। इसके समाधान के लिए आप आउटडोर यूनिट पर शेड लगा सकते हैं। ऐसा करने से एसी कंप्रेसर पर 5-6 डिग्री तक कम असर पड़ता है, जिससे कंप्रेसर ठंडा रहता है और एसी बेहतर ढंग से काम करता है।

अन्य उपाय:

1. आउटडोर यूनिट की सही जगह:

आउटडोर यूनिट को ऐसी जगह पर लगाएं जहां पर्याप्त वेंटिलेशन हो और सीधी धूप न पड़े।

2. रूटीन सर्विसिंग:

AC की नियमित सर्विसिंग कराएं ताकि यह सही ढंग से काम करे और ओवरहीटिंग से बचा जा सके।

3. फिल्टर की सफाई:

एसी के फिल्टर की नियमित सफाई करें ताकि एयरफ्लो बाधित न हो औरAC बेहतर कूलिंग दे सके।

4. टेम्परेचर सेटिंग:

एसी को बहुत कम तापमान पर सेट न करें। 24-26 डिग्री सेल्सियस का तापमान आरामदायक और ऊर्जा-संवर्धक होता है।

5. एनर्जी सेविंग मोड:

AC में एनर्जी सेविंग मोड का उपयोग करें ताकि बिजली की खपत कम हो और कंप्रेसर पर ज्यादा दबाव न पड़े।

इन उपायों को अपनाकर आप अपने एसी की कार्यक्षमता बढ़ा सकते हैं और भीषण गर्मी में भी ठंडक का आनंद ले सकते हैं।

 

यह एक उपयुक्त उपाय है जिससे एसी को ठंडा रखने में मदद मिल सकती है। पानी के छिड़काव से उसका तापमान नियंत्रित रहता है और इससे उसका कंप्रेसर भी ज्यादा गर्म नहीं होता है। यह उपाय आमतौर पर उस समय कार्यकारी होता है जब एसी के चलने के दौरान तेज गर्मी होती है और एसी कंप्रेसर को ठंडा रखने के लिए एक आवश्यकता होती है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि पानी सुरक्षित रूप से डाला जाए, आपको एक पेटी का उपयोग कर सकते हैं या एक छोटा पाइप या हार का उपयोग करके पानी को एसी के पीछे की ओर धारित किया जा सकता है। ध्यान दें कि जल सुरंग को सही ढंग से स्थापित किया जाता है ताकि यह किसी भी तरह की चिड़चिड़ापन या नुकसान का कारण न बने।

Related Posts

Nightfall Rokne Ke Upay in Hindi

रिलेटेड जानी जानेवाली तमाम बीमारियों में से एक है नाईट फॉल यानी स्वप्नदोष। सोते समय वीर्य का स्वतः ही निकल जाना नाईट फॉल कहलाता है। युवावस्था में यह एक आम…

रात को सोने से पहले करें विशेष काम

health tips रात को सोने से पहले कुछ विशेष कार्यों को करना ज्योतिष शास्त्र में महत्वपूर्ण माना गया है, जो आपके भाग्य को सुधारने में मदद कर सकते हैं। इसमें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Missed

Nightfall Rokne Ke Upay in Hindi

रात को सोने से पहले करें विशेष काम

रात को सोने से पहले करें विशेष काम

Rahul Gandhi

Rahul Gandhi

Tank vs Martin

Tank vs Martin

Meloni

Meloni

Eid ul Adha

Eid ul Adha